पड़ोस की लड़की रुपाली की चुदाई

Antarvasna Hindi Sex Stories Kamukta हेलो दोस्तों मैं पहले आप सब दोस्तों को नॉनवेज स्टोरी डॉट कॉम पे स्वागत करता हू, आज मे आपको आपनी फर्स्ट सेक्स स्टोरी के बारे मे बताने वाला हू मेरा नाम सोनल है और मैंने गुरुग्राम का रहने वाला हू मेरी हाइट 5.11 है गोरा और गठीला बॉडी है और मेरे पेनिस साइज़ 5 इंच है, कुल मिलकर आप ये कह सकते है की मुझे देखकर कई सारे लड़कियां जान देती है. ये कहानी तब की है जब मे कॉलेज में था हमारे पड़ोसे मे गाँव से ऐक फॅमिली रहने आए थी दोनो पेरेंट्स जॉब करते थे और उनकी है बहूत ही खूबसूरत सी बेटी थी रुपाली उनकी उम्र होगी कोई 18~19 की क्या माल थी वो दूध जैसा कलर था और बहूत ही जयदाद स्लिम थी पर उसके बूब्स काफ़ी बड़े थे होगे कोई 34 के साइज का और उसकी हाइट होगी कोई 5.10 उसको देखते ही मेरा तो खड़ा हो गया. उसको सलामी देने लगता था मेरा लंड ऐसे लगती थी वो क मानो जन्नत की कोई परी हो, गजब की सेक्सी माल थी यारों

फिर मेने उशी दिन ये सोच लिया की इसकी चुदाई तो मे कर क ही रहूँगा…. फिर कुछ दीनो तक तो मे उसे हमारी बाल्कनी मे से घूरता रहा फिर कुछ हिम्मत करके उससे आइ कॉंटॅक्ट किया और वो भी मुझे रेस्पॉन्स देने लगी फिर थोड़े दीनो मे हमारी दोस्ती हो गई.

फिर एक दिन आचनक मेने उससे पूछ लिया की तूने कभी किस की है तो उसने माना कर दिया, फिर उसने मुझसे पूछा तो मेने बोल दिया की मेरी कोई गर्ल फ्रेंड नही है तू बोले तो तेरे साथ ट्राइ करलू तो वो शर्मा गई तब मे समझ गया क इसका भी मन है किस करने का फिर मेने उसको पकड़ के उनकी चूचियां दबा दिया, उसे बुरा नहीं लगा, मेरा हिम्मत बढ़ गया.

फिर हम 15 मीं तक स्मूच करते रहे फिर मेने उसके बड़े बड़े बूब्स की बाहर से ही दबाना सुरू कर दी बहूत ही सॉफ्ट बूब्स थे उसके फिर थोड़ी देर मे वो चली गई पेर इससे मेरे अंदर का शैतान जाग गया और मे सोचने लग गया क केसे चुदाई करू इसकी हम डेली मिलते थे, पर सिर्फ किश और बूब्स ही प्रेस कर पता था. जब कभी भी उसके पेंटी में हाथ डालने की कोशिश करता वो लजा जाती. वो बहूत ही ज्यादा लजीला थी.

फिर एक दिन मौका मिला मैं दोपहर मे घर पर था तो आचनक उसका फोन आया क घर आजओ मम्मी पापा किसी काम से बाहर गये है कल तक आएँगे यॅ सुनके तो मेरा दिल गार्डेन गार्डेन हो गया, और मे जल्दी से चुप छाप उसके घर मे घुस गया और जेसे ही मे अंदर पहुचा तो वो खूबसूरत बन कर खड़ी थी मुझसे चुदवाने के लिए उसने चुपके से खुदकी मम्मी की ट्रॅन्स्परेंट नाइट निकल ली थी और वो पहन कर मेरे सामने खड़ी उसका गोरा बदन देख कर मे आउट ऑफ कण्ट्रोल होगआया और सीधा उशे आपनी बाहो मे भर लिया और उसे बहूत ही ज्यादा स्मूच करने लग गया और फिर हाथो से प्रेस्सिंग चालू करदी तो उसकी साँसे गरम आंड तेज़ होने लग गई वो काफी सेक्सी हो चुकी थी.

फिर मेने उसकी नाईटी रिमूव कर दी अब वो मेरे सामने सिर्फ़ ब्रा ओर पनटी मे थी फिर मे उसको उसके पापा क बेड मे लिटाया उठा कर फिर उसको बूब्स की वाइल्ड्ली सकिंग स्टार्ट करदी और साथ मे बाइटिंग इश्यू वो मचल उठी और आह आह ह आह की मोनिंग साउंड स्टार्ट कर दी फिर मे उसकी पूरी बॉडी पे किस करने लग गया आंड फिर धीरे से आपना हाथ उसकी पेंटी मे डाल कर फिंगरिंग स्टार्ट करदी इससे वो ओर भी एग्ज़ाइटेड हो गई और मुझे वो अपने सीने से चिपका ली फिर, फिर वो मुझे किश करने लगी. मैं भी उसके बूब्स को उसके होठ को चूमने लगा, वो भी वाइल्ड हो गई और मेरे ऊपर टूट पड़ी. फिर मैंने उसके पेंटी और ब्रा को उतार दिया, और बूब्स को दबाने और पिने लगा. उसके बाद मैं अपना लंड उसके मुह में डाल दिया, और उसका बाल पकड़ कर अंदर बाहर करने लगा. मैं अपना लंड उसके कंठ तक डाल रहा था कभी कभी उसे सांस लेने में भी दिक्कत होती तो बाहर निकालता , इस तरह से वो भी खूब मजे लेने लगी. और करीब दस मिनट में मैं अपना सारा माल उनके मुह में ही खल्लाश कर दिया. वो मेरे सारे स्पर्म को पि गई. और फिर बोली स्वाद अजीब सा है.

उसके बाद फिर हम दोनों एक दूसरे को पकड़ कर सो. गए, कुछ देर बाद मैं फिर उसके बूब्स को पिने लगा और उसके होठ को किश करने लगा. वो भी मुझे अपने सीने से लगा ली और होठ पे होठ फसा ली और फिर वो अपना चूत मेरे हाथ से सहलाने लगी. मुझे समझ आ गया की, इसको चुदने की जल्दी है. मैं भी कहा कम था, उसका निप्पल काफी टाइट हो चूका था, और वो आह आह आह कर रही थी. कह रही थी चोदो ना मुझे, जब से मैं एक ब्लू फिल्म देखि हु रात में तब से रहा नहीं जा रहा है. लग रहा है कब किसी का लंड अपने चूत में घुसाऊं,

फिर थोड़ी देर मे मेरा शेरू फिर खड़ा होगआया और फिर मेने उसको लेटाया और मिशनरी पोज़िशन मे लेकर उसकी चूत मे थोड़ा सा थूक डाल कर मेरे पेनिस से रब किया इससे वो ओर तड़प गई और जेसी ही मेने उसकी चूत मे डाला तो उसकी चीख निकल गई और उसने मुझे जोर से हग कर लिया. वो सिसकियाँ लेने लगी. और अपना होठ को अपने दांत से काटने लगी. और मोअन कर रही थी.उसके बाद मैं थोड़ा रुक और उसको स्मूच किया और स्मूच करते हुवे ही ज़ोर का झटका मारा और मेरा पूरा लंड उसके अंदर चला गया, उसने मेरे होठ को जोर से काट ली. वो काफी सेक्सी हो चुकी थी.

फिर मेने धीरे धीरे उसकी चुदाई चालू की ओर वो आअहह हह हं ओर तेज़ ओर तेज़ करने लग गई ओर मे फुल स्पीड मे उसकी चुदाई करने लग गया आंड वो कह रही थी की चोदो मेरे राजा आज ये रुपाली तुम्हारी है जेसे चाहो वैसे चोदो मेरे राजा बोलने लग गई फिर मेने उसे गोद मे उठा के स्टॅंड फक्किंग करने लग गया

फिर इतने मे वो 2 बार झड़ गई .अब मे भी तक रहा था तो मेने उसको उप्पर ले लिया और मे नीचे लेट गया अब उसकी बरी थी दोस्तो वो ऐसे राइडिंग करने लग गई जेसे क कोई प्रोफेशनल हो और मे उसके बूब्स फुल दबा रहा था इतना क उनपे रेड आंड ब्लू मार्क्स पद गये फिर हम दोनो झड़ने बाले, वो जोर जोर से धक्के लगाने लगी. मैं भी जोर जोर से चोदने लगा. पुरे कमरे में आह आह आह की आवाज आ रही थी. फिर जैसे ही मैं झड़ने बाला था. मैंने तुरंत ही चूत से लंड निकाल लिया और उसके मुह में झड़ गया. वो मजे से मेरे लंड को चाटने लगी. और फिर चाट चाट कर साफ़ कर दी. उसके बाद मैं भी उसके चूत पे लगे पानी को चाट गया, उसके चूत के ऊपर कुछ सफ़ेद सफ़ेद सा था मैं उसको भी चाट गया. दोनों साथ में नहाये और फिर उसी के घर में दोनों नंगे ही सो गए.