Dost ki wife फुक्कककककक

Antarvasna Hindi Sex Stories डियर दोस्त मेरा नाम गौरव त्रिवेदी है. मैं ये अपनी कहानी आप लोगो को बता रहा हू जो एक दम सच्ची है, में कानपुर से हू और बड़ा अट्रॅक्टिव और स्मार्ट होने के कारण में सभी सेक्सी लड़किया और भाभी मुझे बहुत ही पसंद करती है.

यह कहानी मेरे दोस्त प्रवीण और उसकी वाइफ राखी की है. राखी के बारे में बताओ तो वो एक स्मार्ट बोल्ड सेक्सी हाउसवाइफ है जो अपने पति से सॅटिस्फाइड नही थी जो हमेशा काम में बिज़ी रहता था, उसने कुछ घुमा न्ही था विह हमेशा दुनिया घूमना चाहती थी जी प्रवीण उससे न्ही दिखा पा रहा था. हम हमेशा आपस में मिलते थे रखी मुझसे बड़ा अट्रॅक्टेड रहती थी क्योंकि उससे पता था की में हानेशा हॅपनिंग चीज़ो में इन्वॉल्व्ड रहता था.
कहानी कुछ एसए स्टार्ट होती है की एक बार उन्न दोनो ने मुझे खाने में बुलाया टाइम रात 9 का फिक्स था प्रवीण और में हमेशा ड्रिंक करते थे जब साथ डिन्नर लेते थे. घर में उसका भी अरेंज्मेंट था. में उनके घर गया और डोर बेल बजाए देखा की रखी नेट सारे में पहनी थी.

रखी एक खूबसोर्ट दोस्त की बीवी थी जिसके बूब्स 36सी थी कमर 32 और हिप 38. नेट की सारे में उसके पल्लू ने बीच क्लीवेज अकचे से दिख रहे थी मेने चाह क्र भी ध्यान न्ही हटा पा रहा था जिसको वो एक कॉंप्लिमेंट की तरह लेकर कॉन्फिडेन्स फील क्र रहे थी. पूछने प्र बताया की प्रवीण लाते आएगा उसको एअर क्लोसिंग की वजह से रुकना पद रहा था. मेरे कॉल करने पर उसने कहा की गौरव घर मत आना आज का प्लान कॅन्सल करते है तब में उससे इससे पहले बताता हू में उसके घ्र प्र था उसने कॉल काट दिया हो सकता है काम में बिज़ी हो, प्र कुछ देर बार रखी के सेल प्र भी मेसेज था ” जानू प्लान कॅन्सल्ड, ई’ल्ल बे कमिंग अराउंड 2. लवू”

इसके बाद रखी के फेस में कुछ शरारती सी हासी दिखी मेने उससे कहा
गौरव “चलो भाभी जाता हू दोस्त तो काम में बिज़ी हो गया”
रखी “अर्रे तो क्या खाना तो रेडी है ना खा क्र जाओ”
गौरव “यार मूड खराब करता आपका पति ड्रिंक क्र मूड में था आज”
रखी “तो क्या चलो हमारे साथ लो आज आपके दोस्त हमे तो कभी न्ही पीलाई आप पिलाओ”
यह कहकर रखी ने अपने लेग्स क्रॉस किए उसके थाइस देखकर मेरा लंड बड़ा हो रहा था सोचा कैसे बतौ उसके नेरी फीलिंग्स लेकिन डर था कही ग़लत ना ले ले
गौरव”रह्न दो भाभी आप कहा पीते हो”
रखी “इच्छाए तो बहूत है यह कहा पूरी करते है ”
गौरव “चलो आज हम आपको कुछ नया ड्रिंक बनाक्र पिलाते है”
रखी गॉट एग्ज़ाइटेड और कहा चलो टाइम है वी’ल्ल ड्रिंक स्लोली. हुँने माहूल को एंजाय करने के लिए लाइट कम करी और स्लो म्यूज़िक लगाया हम सोफे पर साथ पीते थे कुछ टीन पेग्स पीने के बाद वो हल्के नशे में थी ,
गौरव “क्या हुआ भाभी आप सो जाओ आपको क्लिक हो गये दारू”
रखी “न्ही बातें करते है बड़े टाइम से इक्चा थी तुमसे बातें क्रू”
इतना कहकर उनने मेरे कंधे में और फ्र कंधे से मेरी गोद में अपना सिर रखा बोली में एसए लेट जौ तो बुरा न्ही मनोगे
गौरव “न्ही”

इतना कहना उसके बालो से में खेलने लगा
रखी “तुम इतने प्यारे हो तुम्हारे साथ कितना अक्चा लगता है”
गौरव “आप भी प्यारी हो प्रवीण की किस्मत कितनी आक्ची है”
इतनी बातें चल रही थी की देखा की रखी का पल्लू नीचे गिरा था उसके आँखें बंद थी उसके बूब्स उसके ब्लाउस से बाहर लगतक रहे थी जो बड़े गोरे और मिल्की लग रहे थे मेरे लंड से धीरे धीरे पानी निकल रहा था मेने सोचा की कही मेरे इरादे और ना बिगड़दे में पल्लू सही करने लगा उनका. पल्लू सही क्रटा इतना में रखी ने साँझ लिया था उसके सीट के नीचे मेरा लंड जवान हो रहा है, ाओह अब मस्ती के मूड में आ गये थी.
रखी सीधी बोली गौरव तुम कब से मेररे बूब्स को देख रहे हो फ्र पल्लू क्यो रखा
गौरव “मुझे लगा कही हालती से गिरा हो सही क्र ली”
रखी “न्ही वो तुमहरे लिए गिरा है मुझे हमेशे से पता है तुम्हे मेरे बट्स बड़े पसंद है,मेरे बूब्स को तुम बड़ा पसंद करते हो आज मौका है प्रवीण न्ही है उससे कुछ ज़्यादा होता भी न्ही है आओ आज तुम और में मिलकर दोनो की आग भुजआअतए है”
इतना सुनने प्र में उसके बूब्स में हाथ रखे वो बड़े हे नरम गराम थे
रखी “आअहह गौरव आज चालू हो जाओ और रुकना मत इतना प्यार क्रो की में हमेशा तुम्हारी राहु आअहह आअहह और बदाओ खोलो अपने ब्लाउस की और बूब्स को अकचे से प्यार क्रो”
मेने उसके ब्लाउस को खोला और वो ब्लॅक पुश उप ब्रा पहनी थी उसके ब्रा खोलने प्र पिंक निपल्स दिखे जिससे देखकर में पागल सा ही गया और उसस्से अकचे से मसालने लगा और चूसने लगा
रखी “ह आह अककचे से छुउऊसो मज़्ज़्ज़ा आ रहा है आअहह अववववव गौरव लव उउउ आअहह”
मेने रखी को उठा क्र उसके रूम ले गया और उसकी साअरी उतार दी. वो ब्लॅक पनटी पहनी थी में उसके हूओटो स्मोक्च क्रटा कभी गर्दन कभी बूओबस और अपने हाथ उसके पनटी के अंदर ले गया था उसके छूट बोहित गीली थी जैसे की मेरा लंड. में उसकी छूट को रब करने लगा
रखी” अया गौरव और तेज़्ज़्ज़्ज़ और तेज़्ज़्ज़ आअहह आहहह मत तड़पाव मुझे छोड़ो फुक्कककककक फुक्ककककक गौरवययी फुक्कककक”.

उसके बाद उसने मेरे लंड बाहर निकाला मेरा लंड 7 इंच देख क्र वो खुद हो गये और पूरा लंड चूसने लगी और बड़ी प्यासी हो लंड चूस रहे थी जिसससे देख क्र मेरा लंड और बड़ा हो गया मेने उससे सीधा लेतकर उसकी छूट सीसी चाटने लगा वो बावली हो गये थी उसकी छूट से प्ाअनी बाहर आ रहा था.

रखी@ गौरव चतो चतो आआहह अयाया मज़्ज़्ज़ा आ गया प्रवीण को सिख़ाओ में पहली बार ऐसा एहसाद कर रही हू आआहहह आआआहह छत जाओ. वो अपने पॅव ओपन करके मुझे और छूट के पास ला आहे थी मेंभी बॅया एंजाय क्र रहा था में 20 मिनिट तब उसस्से ययएः मज़्ज़ा दिलवाने ने बाद पूरा प्ाअनी पी गया छूट का उसके मीं में अपना लंड उसकी छूट में डाअल रहे 20 मिनिट तक सेक्स किया हम दोनो बड़े सॅटिस्फाइड थे. इसके बाद 1 बजे ताल हमे सेक्स किया, और हर महीने दो बार हम साथ सेक्स करते हाइ और मज़्ज़े करते है.
आपको यह स्टोरी पसंद आए हो आपके कॉमेंट्स का इंतज़ार रहेगा, घन्यवाद.